गौवरदान अंगराग – प्राकृतिक फेसवाश, फेसपैक व स्नान पाउडर

गौवरदान अंगराग – प्राकृतिक फेसवाश, फेसपैक व स्नान पाउडर

160.00

गौवरदान अंगराग पंचगव्य, शुद्ध मिटटी और कई प्राकृतिक जड़ी बूटियों को मिला कर तैयार किया गया प्राकृतिक फेसवाश, फेसपैक व स्नान पाउडर है. अंगराग से नहाने से त्वचा कोमल और रोग मुक्त होती है. साथ ही यहाँ त्वचा के दाग धब्बे भी मिटाता है. अंगराग जितना शरीर के लिया लाभकारी है उतना ही यह पर्यावरण  भी सुरक्षित रखता है. इसके कोई भी साइड इफ़ेक्ट नहीं होते जबकि साबुन या फेसवाश का इस्तेमाल त्वचा की नमी कम कर देता है.

कौशल्या गोसमवर्धन आश्रम में इस उत्पाद के लिए आदेश देने के लिए कृपया हमसे संपर्क करें – 7065352543

Description

गौवरदान अंगराग के लाभ

१. अंगराग चेहरे से दाग धब्बे मिटाता है
२. अंगराग का लेप चेहरे पर लगाने से झाइयां, चर्मरोग, मुहासे खत्म हो जाते  हैं
३. अंगराग त्वचा में आयल बैलेंस को बना कर रखता है जिससे यह हर तरह की स्किन टाइप के लिए अच्छा रहता है. जिनकी स्किन ज्यादा ऑयली होती है उन्हें कपूर वाले अंगराग का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए
४. अंगराग से नहाने से शरीर की थकान मिट जाती है और गजब की ताज़गी आ जाती है.
५. कई जगह पानी की समस्या रहती है या खारा पानी  आता है ऐसे जगह पर रहने वाले लोगो के लिए भी अंगराग वरदान है क्योंकि अंगराग खरे में भी बहुत लाभकारी रहता है और अंगराग से नहाने में पानी भी कम लगता है
५. कई लोगो के शरीर से थोड़ा सा पसीना आने पर ही बहुत दुर्गन्ध आने लगती है, अंगराग शरीर से दुर्गन्ध को मिटाता है और लगातार इस्तेमाल से दुर्गन्ध पूरी तरह मिट जाती है
अंगराग के घटक :- पंचगव्य, नीम, मुलताई मिटटी, गुरुं मिटटी, एलोवेरा , अखरोट खोल, निम्बू खोल, गेंदे की पंखुडिया, गुलाब की पंखुड़ियां, अजवायन, आम्बा हल्दी, अमरुद की पत्तियां, वाचा, गौमय भस्म और बावची |

प्रयोग विधि :-

नहाने के लिए – लेप बना कर पुरे शरीर पर लगा कर २ मिनट बाद धो ले. अंगराग से नहाना शरीर की पूरी सफाई के लिए काफी है, इसे इस्तेमाल करने से साबुन इस्तेमाल करने की जरुरत नहीं रहती. बेहतर परिणाम के लिए साबुन का इस्तेमाल ना करें
कील मुहासे के लिए :-
कील मुहासे हटाने के लिए सुबह शाम अंगराग के लेप को २०-२५ मिनट चेहरे पर लगा कर धो ले
थकान मिटने के लिए :-
अंगराग के लेप को २०-२५ मिनट माथे पर लगा कर रखे.

Leave a Reply